आंवला खाने के स्वास्थ्य लाभ हिंदी में जो आपको जानना चाहिए - Health Benefits of Amla in Hindi

आप सभी ने आंवला का अचार या मुरब्बा ज़रूर खाया होगा। लेकिन क्या आपको आंवला के स्वास्थ्य लाभ के बारे में जानकारी है? शायद, नही होगी। भारत के साथ पूरे दक्षिण एशिया में पाया जाने वाला आंवला अब एक 'सुपर फ्रूट' के रूप में पूरी दुनिया में पहचाना जाने लगा है। पोषक तत्वों से भरपूर यह फल स्वाद ए खट्टा होता है।


आंवला के बारे में एक रोचक बात ये है कि एक 100 ग्राम ताजा आंवला में 20 संतरा के बराबर विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है साथ ही इसमें विटामिन ए और पाचन में सहायक फ़ाइबर भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह आम तौर पर सर्दियों के मौसम में मार्केट में उपलब्ध हो जाता है।


Health Benefits of Amla in Hindi
Health Benefits of Amla in Hindi

वैश्विक स्तर पर पहचान पाने वाले इस सुपर फ्रूट को पोषक तत्वों का बादशाह कहा जाता है। अगर आप रोज़ाना एक आंवला का भी सेवन करें तो इससे आपको बहुत अधिक स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। यहाँ पर हमने आँवला खाने के स्वास्थ्य लाभ के बारे में बताया है, जो निम्न हैं :


आंवला खाने के स्वास्थ्य लाभ (हिंदी में)


  • रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढाता है
  • मधुमेह (Diabetes) में लाभकारी
  • आंखों के लिए लाभकारी
  • याददाश्त बढ़ाता है और दिमाग़ के फ़ंक्शन सही करता है
  • पाचन बेहतर होता है


रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढाता है


100 ग्राम आंवला के फल (लगभग आधा कप) में लगभग 300 मिलीग्राम विटामिन सी की मात्रा होती है, जो वयस्कों के लिए दैनिक अनुशंसित विटामिन सी की खुराक से दोगुना से अधिक है। इसलिए अगर आप रोज़ाना 2-3 दिन आंवले का भी सेवन करेंगे तो आपको विटामिन सी की भरपूर खुराक मिल जाएगी। यह विटामिन आपकी त्वचा के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद होता है, इसलिए अगर आप अपनी त्वचा में चमक चाहते हैं, तो आँवला ज़रूर खाएँ।


याददाश्त बढ़ाता है और दिमाग़ के फ़ंक्शन सही करता है


आंवला के फाइटोन्यूट्रिएंट्स और एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो हमारी याददाश्त को बढ़ाने में मदद करते हैं। यह मस्तिष्क की कोशिकाओं को सही रखने में हमारी मदद करते हैं। अगर कोई मनोभ्रंश रोगी (Dementia Patients) है, तो उसके लिए आंवला बहुत ही बेहतर होता है, यह ऐसे रोगियों में मस्तिष्क के कार्य में सुधार करता है।


मधुमेह (Diabetes) में लाभकारी


आंवला का फल सुपर फ्रूट के नाम से ही यूँ ही दुनिया में प्रसिध्द नही हुआ है, बल्कि इसके पीछे कई कारण है। इसमें घुलनशील फाइबर जाते हैं, तो हमारे शरीर में तेज़ी से घुल जाते हैं, इससे शरीर में शुगर अवशोषित की दर भी धीमी हो जाती है। इसी वजह से आंवला का सेवन मधुमेह रोगियों के लिए फ़ायदेमंद होता है। साथ ही यह फल ब्लड शुगर को भी कंट्रोल (कम) करने में मदद करता है। अगर आपके घर में भी कोई मधुमेह (Diabetes) रोगी है, तो डॉक्टर से परामर्श करके आप उनके भोजन में आंवला शामिल कर सकते हैं।


पाचन बेहतर होता है


आपको पता ही होगा की पाचन सही रखने के लिए भोजन में फाइबर का होना बहुत ज़रूरी है। आंवला इस मामले में बहुत ही बढ़िया फल है, इसमें घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं, तो एक तरफ़ तो शरीर में शुगर अवशोषण को कम करके ब्लड में शुगर लेवल कम करता है वही दूसरी ओर पाचन को सही रखता है। यह आंत्र सिंड्रोम जैसी बीमारियों को कुछ हद तक कंट्रोल करने में भी मददगार होता है।


आंखों के लिए लाभकारी


हमारी आँखों के लिए सबसे ज़रूरी विटामिन ए होता है, इसका भरपूर सेवन आँखों की सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद साबित होता है। अगर आप विटामिन ए को अपने भोजन में किसी रूप में शामिल करना चाहते है, तो आंवला सबसे बेस्ट ऑप्शन होगा। आंवला के फल में विटामिन ए बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसका सेवन करने से ना केवल आँखों की रोशनी बढ़ती है बल्कि उम्र से जुड़े हुए धब्बेदार अध: पतन (macular degeneration) का जोखिम भी कम हो जाता है।


आंवला को अपनी डाइट में शामिल करके सेवन कैसे करें :-


  • आँवला का पूरा फल जो ताज़ा हो को काला नमक के साथ खा सकते हैं, यह स्वाद में भी बढ़िया होता है।
  • भारतीय घरों में आंवला का मुरब्बा भी तैयार किया जाता है, इसको भी आप अपनी डाइट में शामिल करें। मुरब्बा के बारे में ख़ास बात ये है कि ये जितना पुराना होगा उतना ही फ़ायदेमंद होता है।
  • आँवला के ताजे फल का रस निकाल कर यानी जूस बना कर भी सेवन कर सकते हैं।
  • आँवला को सुखा कर उसका पाउडर बनाकर भी रोज़ सुबह 1 चम्मच आंवला पाउडर और 1 चम्मच शहद को गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं।
  • मार्केट में आँवला के कई च्यवनप्राश मिलते हैं। आप ऐसे च्यवनप्राश को चुनें जिसमें आंवला प्रमुख रूप से शामिल किया गया हो। इसको आप गुनगुने दूध के साथ खा सकते हैं।
  • मार्केट में आज कल आंवला सुपारी के नाम से भी सूखा आँवला मिलता है, जो माउथ फ्रेशनर, पाचन सहायता और एंटासिड के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसे भी ख़रीद कर आप इसका सेवन कर सकते हैं।
  • इसका आचार भी काफ़ी स्वादिष्ट होता है, भोजन के साथ शामिल करें।

निष्कर्ष


इस ब्लॉग पोस्ट में हमने आंवला खाने के स्वास्थ्य लाभ के बारे में चर्चा की है, आशा करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आएगी।


Disclaimer


यह ब्लॉग पोस्ट केवल जानकारी के लिए है। इसका इस्तेमाल किसी भी रूप में डॉक्टर या एक योग्य चिकित्सा पेशेवर के परामर्श के रूप में नहीं किया जा सकता। हालाँकि आँवला भारतीय किचन में आचार, मुरब्बा और चटनी के रूप में शामिल किया जाता है, इसलिए आप बिना संकोच के आँवले का सेवन कर सकते हैं। ध्यान रखें कि मधुमेह (Diabetes) रोगियों का आहार डॉक्टर के परामर्श के बाद ही डिसाइड करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.